इंटरव्यू

नई दिल्ली, 2 जून (आईएएनएस) । अपने दो दशक से अधिक के बॉलीवुड करियर में ज्यादातर नेक्सट टू डोर लड़कियों वाली छवि रखने वाली राइमा सेन ने हाल ही में सोशल मीडिया पर कुछ धमाकेदार तस्वीरें पोस्ट कीं। वह कहती है कि वह छवि बदलाव या इसके साथ आने वाले जोखिमों के बारे में नहीं सोच रही हैं।

Raima Sen decodes why supernatural genre is popular

राइमा सेन ने बताया कि अलौकिक शैली लोकप्रिय क्यों है

मुंबई, 29 मई (आईएएनएस) । अभिनेत्री राइमा सेन नए वेब-शो द लास्ट ऑवर में नजर आ रही हैं और इस सुपरनैचुरल क्राइम ड्रामा ने इस जॉनर के प्रेमियों को खुश कर दिया है।

Sunny Hinduja: Success and fame shouldn

सफलता और प्रसिद्धि हम पर हावी नहीं होनी चाहिए : सनी हिंदुजा

मुंबई, 28 मई (आईएएनएस) । शो एस्पिरेंट्स में संदीप भैया की भूमिका निभा रहे अभिनेता सनी हिंदुजा का मानना है कि सपनों और लक्ष्यों को हासिल करने के साथ साथ सफलता को संभालना भी आना चाहिए।

Suneeta Rao:

सुनीता राव : परी हूं मैं बाल शोषण पर संदेश लेकर नहीं आई

नई दिल्ली, 26 मई (आईएएनएस) । नब्बे के दशक में पॉप ट्रैक परी हूं मैं गाकर रातोंरात स्टार बन चुकीं गायिका सुनीता राव इस धारणा को दूर करती हैं कि यह गीत बाल शोषण के बारे में है।

Elli AvRam: I

एली अवराम : मैं अन्य विदेशियों को भारतीय फिल्मों में अच्छा प्रदर्शन करते देखकर खुश हूं

मुंबई, 22 मई (आईएएनएस) । मूल रूप से स्वीडन के स्टॉकहोम की रहने वाली अभिनेत्री एली अवराम का कहना है कि समय के साथ बॉलीवुड में ज्यादातर विदेशी लोगों को स्वीकार किया जा रहा है और उन्हें बेहतर भूमिकाएं मिल रही हैं।

किस किसको प्यार करूं, मिकी वायरस और मलंग जैसी फिल्मों में नजर आ चुकीं अभिनेत्री का कहना है कि दुनिया भर में कई लोग बॉलीवुड का हिस्सा बनने के लिए मरते हैं।

Elnaaz Norouzi: More than ever, you have to be picky now

एल्नाज नोरौजी: एक्शन फिल्म करना चाहूंगी

मुंबई, 17 मई (आईएएनएस) । अभिनेत्री एल्नाज नोरौजी का कहना है कि इतनी सारी वेब सीरीज और फिल्में बनने के साथ ही सही प्रोजेक्ट चुनना बहुत जरूरी है।

Sharad Kelkar on solo lead film: It

शरद केलकर: देजा वु एक बड़े बजट की फिल्म नहीं

मुंबई, 14 मई (आईएएनएस) । अभिनेता शरद केलकर अपनी पहली सोलो लीड फिल्म, थ्रिलर देजा वु की रिलीज के लिए पूरी तरह तैयार हैं। वह उसे दबाव से नहीं तौलेगे क्योंकि उन्हें लगता है कि दबाव से चीजें गलत हो जाती हैं।